ट्रेन से कटकर पूर्व सांसद के भांजे सहित 2 की दर्दनाक मौत, शादी में जा रहे थे 3 दोस्त

शादी समारोह में शामिल होने जा रहे तीन युवकों में से दो की ट्रेन से कटकर मौत हो गई। मृतकों में एक पूर्व सांसद बलराज पासी का भांजा था। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिए हैं। रुद्रपुर के भूरारानी निवासी योगेश मैनाली ने पुलभट्टा पुलिस को बताया कि उसकी रोहित मिर्धा (23) पुत्र दिनेश मिर्धा निवासी ग्रीन प्लाई के सामने डिबडिबा फार्म बिलासपुर और मिक्कू कक्कड़ उर्फ तपस्वी (26) पुत्र सुनील कुमार निवासी आदर्श कॉलोनी रुद्रपुर से दोस्ती है। रोहित के किसी रिश्तेदार की सितारगंज के निकट किसी गांव में शादी थी तो तीनों करीब सात बजे रुद्रपुर से सितारगंज के लिए चले।

पुलभट्टा के निकट तीनों बाइक खड़ी कर किसी काम से गौला पर बने रेलवे ब्रिज को पार कर रहे थे कि किच्छा की ओर से आ रही ट्रेन की चपेट में आकर रोहित और मिक्कू की मौत हो गई। योगेश ने 112 पर फोन करके एंबुलेंस को बुलाया। इस बीच सूचना पर किच्छा और पुलभट्टा पुलिस के साथ ही परिजन भी मौके पर पहुंच गए। मिक्कू कक्कड़ उर्फ तपस्वी पूर्व सांसद व बीज प्रमाणीकरण संस्था अध्यक्ष बलराज पासी का भांजा है। पुलिस टीम योगेश से पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि मिक्कू तीन भाइयों में सबसे छोटा था।

योगेश ने पुलिस को बताया वह रोहित की बाइक से रोहित के रिश्तेदार की शादी में सितारगंज जाते समय पुराना बरेली मार्ग पर गौला नदी पर बने रेलवे के पुल पर बाइक खड़ी कर चले गए। इसी दौरान दोनों किच्छा की तरफ से आ रही ट्रेन की चपेट में आ गए। योगेश किसी तरह ट्रेन की चपेट में आने से बाल बाल बच गया। पुलिस ने रात ही शव रुद्रपुर स्थित मोर्चरी भिजवा दिया था। रविवार सुबह पुलिस ने स्वजनों की मौजूदगी में शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम की कार्रवाई की। पुलिस योगेश मैनाली से पुलभट्टा थाने में घटना की जानकारी लेने में लगी है।

सूचना मिलने के दो घंटे बाद मिले शव
दुर्घटना के बाद योगेश इस कदर बदहवास होकर रात के अंधेरे में सूनसान स्थान पर घूमता रहा। उसने दस बजे डायल 112 पर सूचना दी। माना जा रहा है कि इससे पूर्व लगभग साढ़े नौ बजे पैसेंजर ट्रेन की चपेट में आने से हादसा हुआ होगा। पहले एसएसआई किच्छा विनोद फत्र्याल पुलिस फोर्स के साथ सिरोली कलां रेलवे क्रासिंग तक पटरी पर शव तलाशती रही। जब उनको शव नहीं मिले तो पुलभट्टा पुलिस को सूचित किया। जिस पर एसओ कमलेश भट्ट शव तलाशते रहे। रात्रि लगभग 12 बजे शव बरामद किए जा सके।


Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com