अंकिता हत्याकांड : दो नए बयान दर्ज

Join whatsapp group
Join whatsapp group

देहरादून। कोटद्वार अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश रीना नेगी की अदालत में अंकिता हत्याकांड के दो अन्य गवाह एसडीआरएफ के इंस्पेक्टर कवींद्र सजवाण और चीला चौकी के तत्कालीन प्रभारी श्रद्धानंद सेमवाल ने अपने बयान दर्ज कराए। दोनों अधिकारियों ने एसआईटी को पूर्व में दिए गए बयान दोहराए। चीला चाैकी प्रभारी ने बताया कि उन्होंने घटना में प्रयुक्त स्कूटी को हत्यारोपी पुलकित आर्य के ज्वालापुर स्थित आवास से बरामद किया। इसके अलावा डीवीआर और सीपीयू मय हार्ड डिस्क क्षतिग्रस्त हालत में वनंत्रा रिजॉर्ट से बरामद किए थे।

अदालत में हत्यारोपी सौरभ भास्कर और अंकित गुप्ता पेश हुए थे। लेकिन तीसरा मुख्य आरोपी पुलकित आर्य वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पेश हुआ था। एसडीआरएफ के इंस्पेक्टर कवींद्र सजवाण ने अदालत को बताया कि वह ऋषिकेश के ढालवाला में तैनात है। 23 सितंबर, 2022 को लक्ष्मणझूला थाने से उन्हें एक महिला के चीला शक्ति नहर में गुमशुदा होने की सूचना मिली थी। उन्होंने कौडिया पुल से लेकर चीला बैराज तक नहर में सर्च अभियान चलाया था। नहर का पानी रुकवाने के बाद 24 सिंतबर 2022 की सुबह पौने आठ बजे एक महिला का शव दिखा, जिसे निकालकर स्थानीय पुलिस के सुपुर्द किया गया।

चीला चौकी के तत्कालीन प्रभारी श्रद्धानंद सेमवाल ने अंकिता भंडारी के शव को नहर से बाहर निकालने से लेकर उसकी शिनाख्त उसके परिजनों द्वारा किए जाने की बात कही। कहा कि मौके पर जनाक्रोश और भीड़ को देखते हुए पंचायतनामे की कार्रवाई एम्स ऋषिकेश में की गई। जिसमें मृतका के शरीर पर आई चोटों का विवरण भी दर्शाया गया था। कहा कि घटना में प्रयुक्त पुलकित आर्य की स्कूटी को 23 सितंबर, 2022 को उसके ज्वालापुर स्थित घर से बरामद किया गया।

यह भी बताया कि 6 अक्तूबर, 2022 को वह वरिष्ठ उपनिरीक्षक मनोहर सिंह रावत के साथ मुकदमा से संबंधित डीवीआर और सीपीयू को बरामद करने के लिए वनंत्रा रिजॉर्ट गए थे। जहां से रिसेप्शन की बगल में आलमारी के पीछे एक डीवीआर और क्षतिग्रस्त सीपीयू मय हार्ड डिस्क बरामद किया था। अंकिता के परिजनों के अधिवक्ता अजय पंत व नरेंद्र गुसाईं ने बताया कि अब अगली गवाही 9 नवंबर को होगी।


Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com