जौनसार: भूमि एमडीडीए में लाने पर भड़के क्षेत्रवासी, डीएम को सोंपा ज्ञापन

आज जौनसार बावर भू-अधिकार संरक्षण समिति के सदस्यों जिसमें जौनसार बावर के लगभग प्रभावित 40 गाँवों के प्रतिनिधि सम्मलित थे द्वारा यमुना पुल लखवाड़ से लेकर पुरोड़ी (नवीन चकराता) तक की भूमि को मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण के तहत् लाये जाने का जिलाधिकारी और जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को दिए गए ज्ञापन के माध्यम से अपना विरोध दर्ज किया ।

इस ज्ञापन के माध्यम से कहा गया कि दिनांक 31 अक्टूबर 2023 को स्थान – नागथात में मोहर सिंह चौहान, अध्यक्ष, खत बहलाड़ के संयोजकत्व में लखवाड़, फरटाड़, बहलाड़, कोरु शैली, सिल्ली, समाल्टा एवं उपलगाँव खतों की आम बैठक आयोजित की गई, जिसमें इन 8 खतों के लोगों द्वारा अपने 40 गाँवों के मजरों को मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण के अधीन लाने पर व्यापक चर्चा की गई ।

ज्ञापन में कहा गया कि इस तरह का प्रयास जौनसार- बावर जनजाति क्षेत्र को प्राप्त विशेष प्रकार की कानूनी व्यवस्था एवं हक़- हकूको, श्री शरण सिंह बनाम् स्टेट ऑफ़ उत्तर प्रदेश माननीय जिला न्यायालय देहरादून (सन 1999) एवं श्री फ़तेह सिंह चौहान बनाम स्टेट ऑफ़ उत्तर प्रदेश माननीय उच्च न्यायलय इलाहबाद (सन 1992) के आदेशों में निहित भावना के प्रतिकूल होगा ।

मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण लागू होने से स्थानीय लोगों की क़ृषि आधारित आजीविका पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा, इससे जनजातियों के मूलभूत अधिकार प्रभावित होंगे, यहां की लोक संस्कृति, रहन-सहन, रीति-रिवाज, लोक मान्यताओं में वाह्य हस्तक्षेप बढ़ेगा , यहां की शांत वादियों की डेमोग्राफी पूरी तरह बदलने से भविष्य के परिणाम अत्यधिक घातक सिद्ध होंगे ।

जौनसार- बावर के निवासियों को प्राप्त विशेष प्रकार के हक़ हकूक सुरक्षित/संरक्षित रहे, वाह्य हस्तक्षेप कम हों , भविष्य में आम व्यक्ति अनावश्यक कर से मुक्त रहे, यहाँ का उन्नत क़ृषि क्षेत्र बना प्रभावित ना हों इसलिए यहाँ के स्थानीय लोग अपने मजरों को मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के तहत् लाने जाने के किसी भी प्रयास/नीति/आदेश का पूर्णरूप से विरोध करते है ।

इस अवसर पर बहलाड़ खत से इन्द्र सिंह नेगी, कुंदन सिंह चौहान, धन सिंह तोमर, रणवीर सिंह चौहान, अरविन्द चौहान, मुकेश तोमर फरटाड़ खत से ग़ुमान सिंह तोमर, श्याम दत्त नौटियाल, लखवाड़ खत से जगमोहन सिंह चौहान, मेहर सिंह चौहान, कोरु खत से स्वराज सिंह चौहान, विरेन्द्र सिंह चौहान, क्षेत्र पंचायत सदस्य जयवीर सिंह चौहान, शैली खत से जगत सिंह राणा, युद्धवीर सिंह चौहान, राजेंद्र जोशी, ग्राम प्रधान छटऊ अनिल जोशी, धन दास, समाल्टा खत से गंगा सिंह, मोहर सिंह चौहान, उपलगाँव खत से विरेन्द्र सिंह रावत, सालक राम जोशी, चुन्नी लाल, भाव सिंह, गुड्डू रावत, बबलू सिंह तोमर , अर्जुन दत्त जोशी, यशपाल रावत, दिनेश तोमर, शमशेर सिंह तोमर, आदि दर्जनों लोग उपस्थित हुये।


Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com