Passing out parade at IMA: भारतीय सेना को मिले 355 युवा अफसर, मित्र राष्ट्रों के 39 कैडेट भी पास आउट

Passing out parade at IMA: भारतीय सेना को मिले 355 युवा अफसर, मित्र राष्ट्रों के 39 कैडेट भी पास आउट

उत्तराखंड के देहरादून स्थित भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) से पासआउट होकर 355 युवा भारतीय सेना में अफसर बन गए। इस दौरान विदेशी मित्र राष्ट्रों के 39 कैडेट भी पास आउट होकर अपने देश की सेना में अफसर बनेंगे। पासिंग आउट परेड (Passing out parade at IMA) में युवा अफसरों का हौसला देखते ही बन रहा था।

सुबह 6.43 बजे मार्क्स कॉल के साथ परेड शुरू हुई। भारतीय सेना की उत्तरी कमान के जनरल आफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल एमवी सुचिंद्र कुमार बतौर रिव्यूइंग आफिसर ने Passing out parade at IMA का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने पास आउट हो रहे आफिसर कैडेट से सलामी ली।

154वें नियमित और 137वें तकनीकी ग्रेजुएट कोर्स की पीओपी शनिवार सुबह आईएमए में हुई। कैडेट चैडवुड ड्रिल स्क्वायर पर कदम ताल करते आए तो सामने दर्शक दीर्घा में बैठे परिजनों ने उनकी हौसला अफजाई की। आईएमए से कसम परेड के बाद सेना में बतौर लेफ्टिनेंट सेवा का पहला कदम यहां से भरकर निकले।

आईएमए से पास आउट होने वाले कुल 394 कैडेटों में 39 विदेशी कैडेट थे। वहीं, 355 भारतीय कैडेट सेना की अलग-अलग कोर से जुड़कर देश के हर कोने में सेवा देने के लिए जांएगे।

इस दौरान आईएमए के कमांडेंट ले. जनरल संदीप जैन, डिप्टी कमांडेंट मेजर जनरल आलोक नरेश भी साथ रहे।

Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com