यहाँ हाल है बेहाल जिलाधिकारी की भी नहीं सुन रहे अधिकारी,

चम्पावत ब्यूरो: जिले को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मॉडल जिला बनाने के प्रयास कर रहे हैं । सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट को धरातल पर उतारने के लिए जिले के डीएम नवनीत पाण्डेय हर क्षेत्र में दौड़भाग कर व्यवस्थाएं सुदृढ़ बनाने के प्रयास कर रहे हैं ।

लेकिन अगर जिले के अधिकारी जिलाधिकारी के निर्देशों का पालन न करें तो ऐसे में मॉडल जिले की परिकल्पना कर पाना बेहद कठिन होगा ।

जिलाधिकारी ने अपने पाटी दौरे के दौरान तहसीलदार पाटी औऱ खण्डविकास अधिकारी पाटी को कस्बे में स्वच्छता व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए थे । जिलाधिकारी द्वारा पाटी कस्बे में स्वच्छता के निर्देश देने की बात उत्तराखंड की पोल खोल देने वाली पत्रिका ” पहाड़ों के झरोखे से “ ने लिखा है कि कस्बे में वृहत स्वच्छता अभियान चलाने के लिए जिलाधिकारी ने तहसीलदार औऱ खंडविकास अधिकारी को निर्देशित किया गया है । लेकिन हम आपको बता दें मौजूदा समय में विकासखंड मुख्यालय पर इसका असर शून्य है । क्योंकि यहाँ बीच बाजार जीआईसी मार्ग के समीप कूड़े का ढेर लम्बे समय से परेशानी का सबब बना हुआ है ।

हम आपको बता दें स्वच्छता की बात करना औऱ स्वच्छता बनाए रखने में रात औऱ दिन का अंतर है । जिलाधिकारी ने दोनों अधिकारियों को निर्देशित तो कर दिया लेकिन शायद उन्हें मालूम नहीं कि यहाँ सिस्टम की ये हालत हो चुकी है कि , यहाँ निर्देशों का पालन करवाने के लिए भी एक कर्मचारी रखना होगा औऱ उस कर्मचारी पर नजर रखने के लिए भी एक कर्मचारी रखना होगा । औऱ ये सिलसिला यूँ ही तब तक चलता रहेगा जब तक जिले के कर्मचारियों पर काम के प्रति सख्ती न बरती जाए ।


Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com