“सेल्फी विद पेट” प्रतियोगिता के विजेताओं एवं प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा

देहरादून ब्यूरो: पशुपालन निदेशालय मोथरोवाला में आयोजित एक कार्यक्रम में केबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा द्वारा पशुपालन विभाग के तत्वावधान में चलाई गयी “सेल्फी विद पेट” प्रतियोगिता के विजेताओं एवं प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा उत्तराखंड भेड़ एवं ऊन विकास परिषद् द्वारा प्रारम्भ की गयी अंशदान पर मेंढा वितरण योजना का भी शुभारम्भ किया।

बहुगुणा ने बताया कि, “सेल्फी विद पेट” पशुपालन विभाग का जनमानस को पालतू पशुओं के प्रति प्रेम करने हेतु जागृत करने का एक अभिनव प्रयोग है। इस प्रतियोगिता में दिनांक 7 जुलाई 2023 से दिनांक 10 अगस्त 2023 तक उत्तराखंड के समस्त निवासियों से अपने पालतू जानवरों के साथ खींची गयी एक सेल्फी, कहानी के साथ विभाग के किसी भी सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड करने का अनुरोध किया गया था। प्राप्त सभी सेल्फी का सचिव पशुपालन विभाग की अध्यक्षता में गठित एक समिति द्वारा मूल्यांकन किया गया।

इस प्रकार प्राप्त कुल 25 प्रविष्टियों में से श्री दीक्षा वर्मा निवासी हल्द्वानी को प्रथम, कुमारी मेघना निवासी नैनीताल को द्वितीय एवं मनोहर कन्याल डीडीहाट, पिथौरागढ़ को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। प्रथम पुरुस्कार के रूप में पचास हजार रुपये एवं प्रशस्ति पत्र, द्वितीय पुरस्कार के रूप में रुपये तीस हजार एवं एक प्रशस्ति पत्र तथा तृतीय पुरस्कार के रूप में रुपये पन्द्रह हजार एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। इसके अतिरिक्त सभी 25 प्रतिभागियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा कार्यक्रम में मंत्री श्री बहुगुणा द्वारा अपनी पॉकेट मनी से निराश्रित पशुओं का उपचार करने वाली उत्तरकाशी निवासी कुमारी ख़ुशी नोटियाल को रुपये ग्यारह हजार के विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, श्री बहुगुणा ने कहा कि ये बेजुबान और निराश्रित पशु भी हमारे प्रेम एवं देखभाल के हकदार हैं। यह प्रतियोगिता हमने जनमानस में पालतू एवं निराश्रित पशुओं के प्रति प्रेम एवं लगाव की भावना और अधिक मजबूत करने के लिए प्रायोजित की है। हमारा यह उद्देश्य है कि सभी लोग यह समझें कि यह पृथ्वी केवल हमारी ही नहीं अपितु सभी प्राणिमात्रों के लिए है और इस धरती पर रहने वाले प्रत्येक जीवित प्राणी को प्यार एवं उचित देखभाल अवश्य मिलनी चाहिए।

केबिनेट मंत्री ने उत्तरकाशी निवासी कुमारी ख़ुशी नौटियाल के निराश्रित पशुओं के प्रति प्रेम एवं लगाव की भावना को विशेष रूप से रेखांकित किया। उन्होंने सभी विजेता एवं प्रतिभागियों को प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु बधाई एवं धन्यवाद दिया।
कार्यक्रम में विनोद चमोली विधायक धर्मपुर, ने कहा कि इस प्रकार की प्रतियोगिताएं अनूठी पहल हैं। ऐसे आयोजनों से जनमानस में पशुओं से प्रेम करने के लिए अधिक जागृत और संवेदनशील होगा।

इसके अतिरिक्त उक्त कार्यक्रम में केबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा ने उत्तराखंड भेड़ एवं ऊन विकास परिषद् द्वारा प्रारम्भ की गयी अंशदान पर मेंढा वितरण योजना का भी शुभारम्भ किया। इस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड की भेड़ों की नस्ल में सुधर लेन के लिए भेड़ पलकों को न्यून दरों पर उन्नत नस्ल के मेंढे उपलब्ध करवाए जा रहे हैं ताकि उनसे प्राप्त होने वाली ऊन उच्च गुणवत्ता की हो एवं उसका बेहतर बाजार मूल्य मिल सके। इस क्रम में श्री बहुगुणा द्वारा उत्तरकाशी के सरनौल गांव के दस भेड़ पालकों को अंशदान ₹ पन्द्रह सौ प्रति मेंढा पर मेंढे वितरित किये गए।

कार्यक्रम में निदेशक पशुपालन डॉ. बी सी कर्नाटक, मुख्य अधिशासी अधिकारी उत्तराखंड भेड एवं ऊन विकास परिषद् डॉ. नीरज सिंघल, मुख्य अधिशासी अधिकारी यू.एल. डी. बी. डॉ. राकेश सिंह नेगी, कार्यक्रम में डॉ. ममता आर्य, डॉ. रेनू चौहान, डॉ. छवि, डॉ. अर्चना सर्राफ आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ कैलाश उनियाल द्वारा किया गया।


Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com