नूंह में रोहिंग्याओं की 250 झुग्गियों पर चला बुलडोजर, एसपी व डीसी भी नपे

गुरुग्राम। नूंह में सांप्रदायिक हिंसा के बाद रोहिंग्याओं की अवैध बस्तियों की 250 से ज्यादा झुग्गियों को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया गया है। प्रशासन ने रोहिंग्याओं के हिंसा में शामिल होने की जानकारी सामने आने के बाद यह कार्रवाई की। वहीं, राज्य सरकार ने नूंह के पुलिस अधीक्षक और उपायुक्त को हटा दिया है। नरेंद्र बिजरानिया को एसपी और धीरेंद्र खडगटा को उपायुक्त बनाया गया है। ये दोनों पहले भी नूंह में रह चुके हैं।

नल्हड मंदिर की तरफ जाने वाले रोड पर शुक्रवार की शाम करीब 25 अवैध निर्माणों पर बुलडोजर चला। नल्हड शिव मंदिर के पीछे वन विभाग की लगभग 5 एकड़ भूमि पर अतिक्रमण किया गया था। बृहस्पतिवार को भी तावडू नगर की मोहम्मदपुर रोड पर पुन्हाना में वन विभाग की जमीन पर अवैध रूप से बनी झुग्गियों और मकान को गिराया गया था। ये बस्ती बांग्लादेश से आए रोहिंग्याओं की थी।

अब तक 102 एफआईआर 200 से अधिक गिरफ्तार

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि हिंसा के संबंध में अब तक 102 एफआईआर दर्ज की गई हैं। इनमें आधी से ज्यादा अकेले नूंह में ही हैं। अब तक 202 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 80 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

हिंसा के दौरान छुट्टी पर चल रहे थे एसपी

नूंह के एसपी वरुण सिंगला को भिवानी का एसपी बनाया गया है। नूंह में जिस दिन सांप्रदायिक हिंसा भड़की थी, एसपी छुट्टी पर चल रहे थे। बृहस्पतिवार को ही वह छुट्टी से लौटे थे। उनकी छुट्टी के दौरान भिवानी के एसपी आईपीएस नरेंद्र बिजरानिया के पास नूंह का अतिरिक्त प्रभार था। अब बिजारनिया एसपी दिए गए हैं।

मुबारिकपुर में भी कार्रवाई की गई। जिले में 250 से ज्यादा झुग्गियों को नष्ट किया गया है।

Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com