Betalghat में फर्जी Aay Pramaan Patra बनाने वाला CSC केंद्र संचालक गिरफ्तार

  • नंदा गौरा योजना के लिए तैयार कर दिया फर्जी प्रमाण पत्र
  • विभागीय जांच में पकड़ में आया मामला तो सीडीपीओ ने सौंपी तहरीर
  • बेतालघाट पुलिस ने संचालक को किया गिरफ्तार

Betalghat क्षेत्र में पहला मामला सामने आने के बाद मचा हड़कंप

Betalghat क्षेत्र में फर्जी आय प्रमाण पत्र बनाकर नंदा गौरा योजना का लाभ दिलाने के मामले का खुलासा हुआ है। पुलिस ने आरोपित सीएससी सेंटर संचालक को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने फर्जी प्रमाण पत्र में लगाई गई मोहर, स्टाम्प पैड तथा प्रिंटर भी बरामद किया है‌। फर्जी ठंग से प्रमाण पत्र तैयार किए जाने के मामले का खुलासा होने से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया है।

बाल विकास परियोजना अधिकारी बेतालघाट अनिता सक्सेना ने बीते 24 मई को थाना बेतालघाट में तहरीर देकर बताया कि नंदा गौरा योजना का लाभ पाने के उद्देश्य से फर्जी आय प्रमाण पत्र तैयार किए जा रहे हैं। विभागीय जांच में प्रमाण पत्र के फर्जी होने की पुष्टि हो चुकी है। बाल विकास परियोजना अधिकारी की तहरीर के आधार पर बेतालघाट थाने में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई। थानाध्यक्ष मनोज नयाल की अगुवाई में पुलिस टीम ने मामले की गंभीरता को देख तेजी से जांच शुरू की। जांच में बेतालघाट बाजार में देवभूमि जनसेवा केंद्र चलाने वाले चडूयूला गांव निवासी दीपक गोस्वामी का नाम सामने आया।

जांच में सामने आया कि नंदा गौरा योजना का लाभ दिलाने के मकसद से धोखाधड़ी कर लाभार्थी परिवार की आय प्रमाण पत्र परिवार की वार्षिक आय 75 हजार रुपये में छेड़छाड़ कर 72 हजार रुपये अंकित कर फर्जी आय प्रमाण पत्र तैयार किया गया है। पुलिस ने आरोपित मनोज को गिरफ्तार कर लिया वही जन सेवा केंद्र की मोहर स्टाम्प पैड तथा एक प्रिंटर भी बरामद किया है। फर्जी प्रमाण पत्र तैयार करने का पहला मामला सामने आने के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है।

इस दौरान उपनिरीक्षक गौरव जोशी, मनोज जोशी दीपक सांमत आदि मौजूद रहे।

Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com