Mausam update: छह जनपदों में भारी बरसात की चेतावनी, येलो अलर्ट जारी, 228 सड़के बंद, देखें तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान

Mausam update देहरादून-: मौसम विभाग में 3 घंटे का तात्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी करते हुए राज्य के 6:00 बजे से लेकर 9:00 बजे तक कहीं-कहीं गरज वाले बादल विकसित होने तथा बहुत हल्की से हल्की वर्षा होने की संभावना व्यक्त की है मौसम विभाग ने इस बीच डीडीहाट में 82.5 हल्द्वानी में 70.5 चोरगलियां में 66.5 किच्छा में 51 नैनीताल में 43.5 पंतनगर में 32 कालाढूंगी में 30.5 गुलरभोज में 28.5 रुद्रपुर में 28 थल में 25 धारचूला में 24 नीलकंठ में 18 जॉलीग्रांट में 17.5 तथा बेरीनाग में 15 मिलीमीटर बरसात रिकार्ड की है।

उधर उत्तराखंड के अधिकांश हिस्सों में बुधवार को विभिन्न हिस्सों में हुई भारी बारिश से गुरुवार को राहत मिली। हालांकि, राज्य मौसम विज्ञान केंद्र ने शुक्रवार को देहरादून, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर और उधम सिंह नगर जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना के संबंध में पीली चेतावनी (वॉच) जारी की है। आज राज्य के जिलों में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बिजली गिरने और तीव्र से बहुत तीव्र बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग तथा चमोली जिलों में अनेक स्थानों पर तथा शेष जिलों में अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा/गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

राज्य की अस्थायी राजधानी देहरादून में आंशिक रूप से लेकर आमतौर पर बादल छाए रहने का अनुमान है। हल्की से मध्यम बारिश/गरज के साथ एक या दो दौर की बारिश होने की संभावना है, जो कुछ क्षेत्रों में तीव्र/भारी हो सकती है। आज देहरादून में अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः 30 डिग्री सेल्सियस और 23 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।गुरुवार को विभिन्न स्थानों पर अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः देहरादून में 29.1 डिग्री सेल्सियस और 23.2 डिग्री सेल्सियस, पंतनगर में 30.5 डिग्री सेल्सियस और 24.6 डिग्री सेल्सियस, मुक्तेश्वर में 19.5 डिग्री सेल्सियस और 15.9 डिग्री सेल्सियस और 23.8 डिग्री सेल्सियस और 17.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया

उत्तराखंड में लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से 228 सड़कें बंद हो गई हैं। इसमे दो राष्ट्रीय राजमार्ग और 20 राज्यमार्ग शामिल हैं। इससे लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

पिंडर नदी में जलस्तर बढ़ने से थराली बाजार में कई मकानों में पानी घुस गया। हरिद्वार में चंडी देवी मंदिर के पास भूस्खलन से पांच दुकानों को खतरा पैदा हो गया। गौरी गंगा नदी का जलस्तर बढ़ने पर यूएसनगर और बदरीनाथ हाईवे कई जगह बाधित।

बदरीनाथ हाईवे कई जगह बाधित

पहाड़ियों से आए बोल्डरों और मलबे से बदरीनाथ हाईवे नौ स्थानों पर बाधित रहा। मार्ग पर सैकड़ों लोग फंसे रहे। बदरीनाथ हाईवे देवप्रयाग के निकट भारी मलबा आने से नौ घंटे से अधिक बाधित रहा। जिसके चलते यहां वाहनों की लंबी कतार लग गयी। दोपहर बाद सवा तीन बजे हाईवे खोला जा सका। उधर, ऋषिकेश चंबा हाईवे पर बगड़धार के पास बीती सोमवार रात को भारी चट्टानी मलबा आने से हाईवे बाधित हो गया था।

लोनिवि के अनुसार मंगलवार तक राज्य में 150 सड़कें बंद थीं, लेकिन बुधवार को 150 अन्य सड़कें बंद हो गईं। जिससे बंद सड़कों का आंकड़ा 300 हो गया। हालांकि देर शाम तक 72 सड़कों को खोल दिया गया जिसके बाद अब बंद सड़कों की संख्या 228 रह गई है

Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com