16 वर्षीय नाबालिग बेटी से पिता ने किया दुष्कर्म

16 वर्षीय नाबालिग बेटी से पिता ने किया दुष्कर्म तो महिला आयोग ने उठाया कड़ा कदम 2 और मामलों में लिया संज्ञान

रायपुर क्षेत्र के निवासी एक हैवान पिता द्वारा पिता-पुत्री के पवित्र रिश्ते को कलंकित करते हुए अपनी 16 वर्षीय नाबालिग बेटी से शराब के नशे में दुष्कर्म के मामले में उत्तराखंड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने संज्ञान लेते हुए इस प्रकरण की घोर निंदा की है तथा उन्होंने इस मामले में एसएसपी देहरादून से बात करते हुए कहा कि ऐसी हैवानियत भरे व्यक्ति के विरुद्ध कठोर से कठोर – कड़ी से कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। यह बहुत ही शर्मनाक मामला है, यह अत्यंत चिंता का विषय है कि यदि बेटी अपने ही पिता से सुरक्षित नहीं रहेगी तो समाज में किस प्रकार वह अपने आप को सुरक्षित महसूस करेगी। शराब व नशा आज परिवारों के नाश का कारण बन रहा है, इंसानियत तार तार हो रही है। एक तरफ वह परिवार की बेटियों का शोषण कर रहा है वहीं दूसरी और वो आरोपी, अपनी पत्नी पर हाथ उठा रहा है उसके साथ मारपीट कर रहा है। राज्य महिला आयोग इसकी कड़ी निंदा करता है तथा आरोपी के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के लिए निर्देशित करता है ।

साथ ही आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने कहा है कि महिला आयोग पीड़िता व उसके परिवार से मुलाकात कर उक्त पीड़िता व उसकी मां की काउंसलिंग कराएगा तथा उसे जल्द न्याय मिले उसके लिए तत्परता से उसके साथ है।

वहीं आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने 2 और मामलों में संज्ञान लिया है।
जिसमे की ऋषिकेश के हरिपुरकला ग्रामसभा की 17 वर्षीय नाबालिक के द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या के मामले में परिवार से पूछताछ व जांच के लिए निर्देशित किया है तथा उधर देहरादून के बंजारावाला की राजेश्वरी कॉलोनी में फौजी पिता द्वारा अपनी ढाई साल की बेटी को पीट कर मारने के मामलें में भी आयोग की अध्यक्ष ने संज्ञान लिया है…… उन्होंने कहा कि इस नशे के चलते आज दो बड़ी घटनाएं सामने आई है एक ओर पिता अपनी बेटी से दुष्कर्म कर रहा है एक ओर पिता अपनी ढाई वर्षीय बेटी को पीट पीट कर मार डालता है जो कि अत्यन्त दुखद है।

महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कण्डवाल ने सभी महिलाओं को कहा है कि वो ऐसे मामलों से निपटने के लिए तैयार रहे और सरकार व प्रशासन द्वारा विभिन्न आवश्यक सेवा के नम्बर अपने फोन में सेव रखे तथा पुलिस विभाग के गौरा शक्ति ऐप, द्रुत ऐप तथा राज्य महिला आयोग के मोबाइल नंबर 8126774374, महिला हेल्पलाइन 1090/1091या 112 आदि पर शिकायत कर सकती है।

Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com