मोबाइल चलाने के लिए टोका तो दारोगा ने प्रेग्नेंट पत्नी को मारी 3 गोलियां, पुलिस विभाग में हड़कंप

झांसी में दारोगा ने अपनी गर्भवती पत्नी को सर्विस पिस्टल से तीन गोलियां मार दी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। पत्नी शालिनी मिश्रा के हाथ में 2 गोली और एक गोली पेट को छूते हुए निकल गई।

गंभीर हालत में उसे दारोगा ने झांसी मेडिकल कॉलेज भर्ती कराया और वहां से फरार हो गया। दारोगा की करतूत से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है।

2 साल पहले ही हुई थी शादी
उपनिरीक्षक शशांक मिश्रा झांसी के थाना उल्दन की बंगरा चौकी प्रभारी है जहां पर वह अपने पत्नी के साथ किराए के मकान में रहता है। 2 साल पहले ही झांसी की रहने वाली शालिनी से उसकी शादी हुई थी। मायके वालों के मुताबिक, उन्होने लगभग 40 लाख रुपये की शादी की थी। शादी के बाद भी शशांक अतिरिक्त दहेज की मांग करता था। शादी के बाद से ही दोनों में लगातार विवाद होता रहता था। इसके चलते रविवार देर रात शशांक ने किसी बात को लेकर अपनी सरकारी पिस्टल से पत्नी को तीन गोली मारी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई।

जान बचाने के लिए पड़ोसी के घर भागी
शालिनी के अनुसार, शशांक झांसी में अपने भाई और मां के पास मिलने गए थे। वहां से रात लगभग 11 बजकर 30 मिनट पर बंगरा लौटे और फोन चलाने लगे। गर्भवती पत्नी ने टोका तो उन्होंने अलमारी से सरकारी पिस्टल निकाली और पत्नी को 3 गोली मारी। एक कमर को छू कर निकल गई जबकि दो हाथ में लगी। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। उसने हिम्मत नहीं हारी और जान बचाने के लिए भागकर पड़ोसी के यहां पहुंच गई। फिलहाल उसका झांसी के मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है।

सास बोली- दहेज में 25 लाख दिया था कैश
वहीं, घायल पत्नी के मां-पाप दारोगा के परिवार पर कई गंभीर आरोप लगा रहे हैं। शालिनी की मां ने कहा कि दहेज में 25 लाख रुपये कैश दिया। 50 अंगूठी मांगी गई थी बस वो नहीं दिया तो शशांक भड़का हुआ था। ससुराल में बेटी को अक्सर प्रताड़ित किया जाता था। इस पूरे मामले पर पुलिस अभी कुछ भी कहने से बच रही है। करीब 9 घंटे बाद पुलिस ने दारोगा को हिरासत में लिया।

Jago Pahad Desk

"जागो पहाड" उत्तराखंड वासियों को समाचार के माध्यम से जागरूक करने के लिए चलाई गई एक पहल है।

http://www.jagopahad.com